बालू निकासी चालू करने तथा बेकारी अवधि का भत्ताकी मांग पर, पटना में बाईपास जाम.

बालू निकासी और सप्लाई चालू करने तथा बेकारी अवधि का भत्ता देने की मांग पर दो हजार से अधिक निर्माण मजदूरों ने ऐक्टू व निर्माण मजदूर यूनियन के आह्वान पर आज न्यू बाईपास को दो अलग अलह जगहों पर घंटो जाम रखा.
पटना 19 सितम्बर 2017

बालू संकट के खिलाफ बालू निकासी व सप्लाई चालू करने भुखमरी-बेकारी के शिकार निर्माण-बालू मजदूर,नाविक एवं बालू व्यवसाय से जुड़े छोटे कारोबारियों को बेकारी अवधि का भत्ता देने सहित 5 सूत्री मांगों को लेकर ऐक्टू और बिहार राज्य निर्माण मजदूर यूनियन के आह्वान पर आज 2 हजार से ज्यादा निर्माण मजदूरों ने न्यू बाईपास को दो अलग अलग जगहों पर घंटों जाम रखा और नीतीश सरकार विरोधी जमकर नारे लगाये.
.
बालू निकासी चालू करो नहीं तो गद्दी खाली करो ,लाखों मजदूर क्यों है बेकार, –जवाब दो नीतीश कुमार का नारा लगाते हुए ऐक्टू राज्य सचिव रणविजय कुमार ,निर्माण मजदूर यूनियन राज्य सचिव कमलेश कुमार,श्याम प्रसाद,अजय प्रसाद,पन्नालाल सिंह,उपेन्द्र प्रसाद,शिवालक प्रसाद,चुल्हाई राम,पंचानंद,रामभजन चौहान,लक्ष्मी देवी के नेतृत्व में आज हजारो निर्माण मजदूरों ने अशोक नगर रोड नंबर 14 के सामने शिवम कान्वेंट के पास तथा रामलखन पथ के पास अलग अलग जगह पर सुबह 8.30 बजे से न्यू बाईपास को जाम कर दिया. बालू चालू करो नही तो गद्दी खाली करो ,सभी बेकार मजदूरों को बेकारी भत्ता दो,बालू घाटों की नीलामी पर रोक लगाओ,बालू मजदूरों नाविकों को निर्माण मजदूर का दर्जा देकर सामाजिक सुरक्षा देना होगा,बालू निकासी में मशीनों पर पूर्ण रोक लगाओ का नारा लगाते रहे.

इस दौरान हुई सभा को ऐक्टू नेता रणविजय कुमार एवं कमलेश कुमार ने संबोधित करते हुए नीतीश सरकार पर माफियाओं को संरक्षण देने का आरोप लगाया और कहा कि नीतीश सरकार ने 2019 तक 5 वर्षों के लिए पटना के 50,भोजपुर के 19 तथा छपरा के 7 कुल 76 बालू घाट की नीलामी एक कम्पनी को मात्र 6 अरब रूपये में कर दिया है जिससे सरकार के राजस्व को भी भारी घाटा हो रहा है,नेताओं ने बालू घाटों की नीलामी पर रोक लगा पूर्व की तरह सरकार द्वारा ही राजस्व वसूली करने की मांग किया.नेताओं ने कहा कि सरकार की इसी गलत नीति के कारण मजदूर आज बेकारी व भुखमरी के शिकार है, नेताओं ने निर्माण-बालू मजदूर,नाविकों एवं बालू से जुड़े छोटे कारोबारियों को बेकारी अवधि का बेकारी भत्ता देने की मांग किया. बालू घाटों की नीलामी पर रोक लगाने,बालू निकासी में मनरेगा के तर्ज पर मशीनों पर रोक लगाने और तुरंत बालू निकासी व सप्लाई चालू करने की मांग किया साथ ही बालू मजदूरों को सामाजिक सुरक्षा देने की भी मांग किया.

न्यू बाईपास में अलग अलग दोनों जगहों पर घंटों जाम रहने के बाद करीब 10.15 में पहुंचे रामकृष्ण नगर व कंकडबाग थाना प्रभारी रवि भूषण को निर्माण मजदूर यूनियन की ओर से मुख्यमंत्री के नाम 5 सूत्री मांग पत्र सौंपा गया, जिला प्रशासन द्वारा 3 दिन में बालू सप्लाई चालू होने का आश्वाशन देने के उपरान्त ही जाम समाप्त हुआ .

और पढ़ें

ऊपर जायें