खगड़िया (KHAGARIA) समाहरणालय पर भाकपा-माले (CPIML) का प्रदर्शन

खगड़िया समाहरणालय पर भाकपा-माले का प्रदर्शन

विगत 26 अगस्त को भाकपा-माले जिला कमेटी खगड़िया द्वारा आठ सूत्री मांगों पर जिला समाहरणालय खगड़िया पर जोरदार प्रदर्शन किया गया। प्रर्दशनकारियों ने जिले में हजारों एकड़ सरकारी, गैर मजरूआ आम व खास, नदी-नाले की जमीन आदि को भूमाफिया-दबंगों के कब्जे से मुक्त कराने तथा कश्मीर से धारा 370 को हटाकर भारतीय संविधान का माखौल उड़ाने पर रोक लगाने की मांग की.
प्रर्दशन के बाद एक सभा का आयोजन किया गया जिसकी अध्यक्षता का सुभाष सिंह ने की। सभा को सम्बोधित करते हुए माले की राज्य कमिटी सदस्य सह बेगूसराय जिला जिला सचिव काॅ. दिवाकर कुमार ने कहा कि आज देश में अराजक स्थिति बनी हुई है। संविधान का सरेआम माखौल उड़ाया जा रहा है। मंदिर मस्जिद विवाद पैदा कर देश को नफरत की आग में झोका जा रहा है। महादलितों के संत महात्माओं की मूर्ति तोड़ी जा रही है।
जिला सचिव अरुण कुमार दास ने कहा कि फासीवादी मोदी शासन का कहर चैतरफा बरस रहा है। किसानों के सवाल को अभय कुमार वर्मा ने उठाया। कार्यक्रम की खास बात यह रही कि खगड़िया जिला के राजद के जाने माने नेता मो. जुल्फिकार आलम और दलित विकास मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष राजेश सदा ने भी अपना समर्थन दिया। दोनेां नेताओं ने मंच पर आकर माले केे कार्यक्रम और संघर्ष को समर्थन दिया।
क्रान्तिकारी गीतों से जनता में जोश भरने का काम का महेंद्र सदा ने किया। इस मौके पर सैकड़ों महिला पुरुष उपस्थित थे। जिनमें काॅ. दीपनारायण दास, अशोक यादव, जयमाला देवी, महेंद्र रजक, निरंजन मुनि, मंजू देवी, सोनी देवी, बीजो यादव आदि प्रमुख हैंै।

और पढ़ें

ऊपर जायें
%d bloggers like this: