#SIWAN संविधान ,लोकतंत्र व आरक्षण को बचाना इस चुनाव का अहम मुद्दा – दीपंकर



दलित -पिछड़ों और अकलियतों की सुरक्षा- सम्मान के लिए माले उम्मीदवार अमरनाथ यादव को जिताने का माले महासाचीव दीपंकर का आह्वान।

सिवान, 4 मई 19

सिवान संसदीय क्षेत्र से भाकपा-माले प्रत्याशी अमरनाथ यादव के समर्थन में आयोजित जनसभा को हुसैनगंज में संबोधित करते हुए माले के राष्ट्रीय महासचिव दीपंकर भट्टाचार्य ने कहा कि मोदी-योगी के उन्माद-उत्पाद के शासन मॉडल ने देश में अराजकता की स्थिति पैदा कर दी है ,गौ रक्षकों की गुंडागर्दी और मॉब लिंचिंग से देश में भय और दहशत का माहौल है ।मॉब लिंचिंग का शिकार देश का सिर्फ मुस्लिम ही नहीं हो रहे हैं बल्कि दलित और पिछड़ा समाज भी इन हमलों का शिकार हो रहा है, परसों ही अररिया में 44 साल के महेश यादव की चोर चोर करके हत्या कर दी गई है । माले महासचिव ने कहा कि एक बड़ी साजिश के तहत संविधान- लोकतंत्र और आरक्षण को मोदी राज में खत्म किया जा रहा है ,इसलिए इस चुनाव में देश की जनता उन्माद उत्पाद के शासन मॉडल को खत्म करना चाहती है और बरसों- बरस के संघर्ष से हासिल संविधान- लोकतंत्र और आरक्षण को बचाना चाहती है।
उन्होंने कहा कि देश में मोदी-योगी बाबा और 40 चोर का शासन चल रहा है ,बैंकों को लूट कर भागने वाले सभी 36 बैंक लुटेरे मोदी मित्रमण्डली के सदस्य है।

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार देश पर अंबानी- अडानी का राज थोप रही है ,मोदी के नेतृत्व में अडानी-अंबानी के लूट राज से मुक्ति का परचम का सर्टिफिकेट 23 मई को ईवीएम से निकलेगा ।

उन्होंने सभा को सम्बोधित करते हुए सिवान सीट पर भाकपा- माले प्रत्याशी अमरनाथ यादव की दावेदारी को इंसाफ की दावेदारी बताते हुए कहा कि सिवान पर जिस तरह एक बार फिर सामंतशाही और योगी शाही थोपने की तैयारी चल रही है उसका चौतरफा मुकाबला सिवान की धरती पर माले ही कर रही है और उन ताकतों को मुंह तोड़ जवाब केवल अमरनाथ यादव ही दे सकते हैं ।अमरनाथ यादव के पक्ष में व्यापक मजदूर- किसान के बनते ध्रुवीकरण का स्वागत करते हुए उन्होंने कहा कि कभी- कभी जनता तमाम गड़बड़ियों को दुरूस्त कर देती है ,ऊपर से महागठबंधन ने जो सिवान को लेकर गलतियां की है उसे जनता का व्यापक गठबंधन ठीक कर देगी और मोदी राज के खात्मे के विगुल को आगे बढ़ाएगी।
राजपुर हाई स्कूल मैदान में आयोजित दूसरी सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि तमाम लोकतांत्रिक संस्थाओं के साथ साथ अब चुनाव आयोग को भी लकवा ग्रस्त बना दिया गया है दो तरह का आचार संहिता का कानून बना दिया गया है भाजपा के लिए अलग आचार संहिता है और विपक्षी पार्टियों के लिए अलग बनारस में एक सैनिक की उम्मीदवारी को रद्द कर दिया जाता है जबकि आतंकी गतिविधियों में संलिप्त प्रज्ञा ठाकुर का महिमामंडन किया जा रहा है। प्रज्ञा ठाकुर ने देश की सुरक्षा में मुंबई को बचाने में अपने को कुर्बान कर देने वाले अधिकारी हेमंत करकरे को अपमानित कर पूरे देश को शर्मसार किया है। उन्होंने इस बात पर जोर देते हुए कहा कि जिन का इतिहास अंग्रेजों से मिलीभगत का रहा है वे आज देशभक्ति का पाठ पढ़ाने का प्रहसन कर रहे हैं, इस देश में देश भक्ति के सबसे बड़े नायक शहीद ए आजम भगत सिंह हैं और जिनके सपनों का हिंदुस्तान बनाने के लिए आज भी चन्द्रशेखर, रोहित वेमुला जैसे नौजवान अपने को कुर्बान कर रहे हैं, इस देश में देशभक्ति का मशाल सबसे मजबूती से कम्युनिस्टों ने उठाया और उसे मजबूती से आगे बढ़ाया जा रहा है ।
उन्होंने कहा कि देश में किसानों का जो व्यापक मोर्चा बना है, किसानों के मुद्दे जो सामने आए हैं ,उसने मोदी सरकार के चेहरे को बेनकाब कर दिया है और यह सरकार अंबानी-अडानी की चौकीदारी करने वाली सरकार बन गई है ।उन्होंने कहा कि सिवान में माले की जीत का मतलब है सामंत शाही और भाजपा शाही का खात्मा और यह जीत दलित गरीबों के जमीन,मजदूरी आवास, पेंशन, शिक्षा और स्वास्थ्य के न्यायपूर्ण सवालों को आगे बढ़ाएगी माले प्रत्याशी अमरनाथ यादव के संसद में जाने का मतलब होगा रसोइयों-आशाओं को बिना न्यूनतम मजदूरी काम लिए जाने के प्रथा का खात्मा। उन्होंने व्यापक जन समुदाय से अपील करते हुए कहा कि जनता का व्यापक मोर्चा बनाकर अमरनाथ यादव को जीताना है और सिवान में शांति-भाईचारे और तरक्की की राजनीति को मजबूत बनाना है।
सभा को संबोधित करते हुए माले प्रत्याशी अमरनाथ यादव ने कहा कि जनता के विश्वास और समर्थन को किसी कीमत पर डिगने नहीं देंगे, सिवान की धरती पर इंसाफ के संघर्ष का सिपाही रहा हूं और इंसाफ की लड़ाई को और मजबूती से आगे बढ़ाएंगे, माले के दरौली से विधायक सत्यदेव राम ने इस मौके पर कहा कि दलित-गरीबों के सुरक्षा सम्मान के संघर्ष के गर्भ से भाकपा- माले निकला है और इस लड़ाई को संपूर्ण जिला में फैलाया जा रहा है इसलिए संपूर्ण संसदीय क्षेत्र में दलित-गरीबों का व्यापक समर्थन भाकपा- माले के पक्ष में है और उनका वोट किसी भी कीमत पर दलितों-गरीबों की हत्यारी ताकतों को नही मिलेगा।

महती सभा को अन्य लोगो के अलावे कर्नाटक माले राज्य सचिव का० क्लिफ्टन ,अखिल भारतीय खेत एवं ग्रामीण मज़दूर सभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीराम यादव ,जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष गीता कुमारी,भाकपा (माले) के सिवान जिला सचिव नईमुद्दीन अंसारी,इंसाफ मंच के राज्य उपाध्यक्ष आफताब आलम,जयनाथ यादव आदि में भी सम्बोधित किया।

और पढ़ें

ऊपर जायें
%d bloggers like this: