होली की रात बेगूसराय में तांती समुदाय पर दबंगों का हमला, अपराधियों को गिरफ्तार करो: माले


दलित-गरीबों को सुरक्षा देने में भाजपा-जदयू की सरकार विफल

पटना, 27 मार्च 2019
भाकपा-माले राज्य सचिव कुणाल ने होली की रात हथियारों से लैस होकर बेगूसराय
के मुफ्फसिल थाना के रजौड़ा गांव में भाजपा संरक्षित अपराधियों द्वारा तांती समुदाय के मुहल्ले पर जानलेवा हमला करने वाले अपराधियों की तत्काल गिरफ्तारी की मांग की है. उन्होंने कहा कि भाजपा-जदयू शासन में दलित-गरीब व अल्पसंख्यक पूरी तरह से असुरक्षित हैं. यह पूरी तरह शर्मनाक है कि अपराधियों को पकड़कर उन्हें जेल भेजने की बजाए प्रशासन ने उन्हें तत्काल छोड़ दिया.


रजौड़ा में तांती समुदाय के लोगों पर बर्बर हमले की जानाकरी मिलते ही भाकपा-माले का एक उच्चस्तरीय जांच दल 22 मार्च को रजौड़ा पहुंचा और पीड़ित परिवारों से मुलाकात की. इस टीम में भाकपा-माले जिला सचिव दिवाकर प्रसाद, खेग्रामस जिला सचिव चंद्रदेव वर्मा, नगर सचिव राजेश श्रीवास्तव आदि शामिल थे. जांच टीम ने पाया कि अपनी दंबंगई दिखाने के लिए भाजपा संरक्षित अपराधियों ने होली की रात में टोले पर हमला किया और लोगों को बुरी तरह मारा-पीटा. घरों में घुसकर महिलाओं के साथ बदसलूकी की गई. मारपीट में 7 लोग बुरी तरह घायल हो गए. इस दौरान लूटपाट की भी घटना को अंजाम दिया गया. विरोध करने पर ईंट-पत्थरों से खपरैल व एस्बेसटस के घरों को चूर-चूर कर दिया गया तथा आग्नेयास्त्रों से फायरिंग की गई.


भाकपा-माले जांच टीम को स्थानीय ग्रामीणों व परिजनों ने बताया कि अपराधियों के हमले में विशुनदेव तांती-65 वर्ष, राम उदय तांती-50 वर्ष, पुलिस तांती-45 वर्ष, फूजल तंाती-45 वर्ष, अंगद कुमार-18 वर्ष, विरजू तांती-25 वर्ष और पुलिस तांती की पत्नी कौशल्या देवी – 45 वर्ष, आंगनबाड़ी सहायिका सहित उपरोक्त सभी लोग बुरी तरह घायल हुए हैं. इन तमाम घायलों का इलाज बेगूसराय सदर अस्पताल में चल रहा है, जहां माले नेताओं ने उनसे मुलाकात की. पीड़िता बुलबुल देवी ने माले नेताओं को बताया कि महिलाओं के साथ बदसलूकी भी की गई.


घटना की सूचना मिलने पर घटनास्थल पर पुलिस पहुंची थी, अपराधियों को गिरफ्तार भी किया गया लेकिन तत्काल छोड़ भी दिया. पूरा गांव इस घटना से दहशत में है. लेकिन प्रशासन उन्हें किसी भी प्रकार की सुरक्षा नहीं दे रहा है.


भाकपा-माले सभी अपराधियों की अविलंब गिरफ्तारी और पीड़ित परिवारों की सुरक्षा की मांग करती है. साथ ही घायलों के उचित देखभाल व सरकारी खर्च पर इलाज की मांग करती है.
कुमार परवेज
कार्यालय सचिव, भाकपा-माले, बिहार

और पढ़ें

ऊपर जायें
%d bloggers like this: