आंदोलनरत रसोईयों ने किया 4 फरवरी से चक्का जाम का ऐलान

★रसोईयों का दो दिवसीय महापड़ाव सम्पन्न,  हड़ताल जारी रखने व 4 फरवरी को बिहार का चक्का जाम करने के आह्वान के साथ सम्पन्न।

★हड़ताली रसोईयों को मिला माले विधायकों का समर्थन, विधान सभा में सरकार को घेरने की माले विधायकों ने किया घोषणा।

★शिक्षा सन्युक्त सचिव से रसोइया नेताओं की वार्ता सकारात्मक हुई परन्तु मांगों पर निर्णय नहीं लेने के कारण हड़ताल और आंदोलन जारी रखने की घोषणा।

पटना 24 जनवरी 19

18 हज़ार मानदेय देने, सभी रसोईयों को सरकारी कर्मी का दर्जा देने सहित 15 सूत्री मांगों पर 7 जनवरी से बिहार के लाखों रसोईयों की जारी हड़ताल को माले के तीनों विधायकों का आज समर्थन मिला,माले के तीनों विधायक महबूब आलम,सत्यदेव राम और सुदामा प्रसाद ने आज महापड़ाव स्थल पहुंच दसियों हज़ार की संख्या में आज महापड़ाव में राज्य भर से पहुंची रसोईयों को सम्बोधित किया ।माले विधायको ने कहा कि रसोईयों की मांगें पूरा करने के सवाल पर माले विधायक विधान सभा सत्र में सरकार को घेरेगा और उनकी मांग को जोर सोर से उठाएगा।

इस बीच बिहार राज्य मध्यान भोजन रसोइया सन्युक्त संघर्ष समिति के नेताओं सरोज चौबे,विनोद कुमार,रामाकांत अकेला,अनामिका ने सन्युक्त रूप से जारी विज्ञप्ति में बताया कि आज शिक्षा विभाग के सन्युक्त सचिव श्री विनोद कुमार से रसोइया नेताओं की हुई वार्ता सकारात्मक रही परन्तु मांगो पर सरकार द्वारा स्प्ष्ट निर्णय नहीं लेने के कारण रसोइया सँगठनों ने अनिश्चितकालीन हड़ताल को जारी रखने तथा आगामी 4 फरवरी को रेल रोड सहित पूरे बिहार का चक्का जाम रखने का निर्णय लिया है।

इस बीच हड़ताली रसोईयों को ऐक्टू,एटक,सीटू, एआईयूटीयूसी, महिला संगठन ऐपवा ,अराजपत्रित कर्मचारी संघ व महासंघ (गोप गुट) सहित कई अन्य सँगठनों का समर्थन मिला तथा इन सँगठनों के राज्य व राष्ट्रीय नेताओं खासकर ऐपवा राष्ट्रीय महासचिव मीना तिवारी,सीटू राज्य महासचिव गणेश शंकर सिंह,ऐक्टू राज्य महासचिव आरएन ठाकुर,राज्य सचिव रणविजय कुमार,एआईयूटीयूसी के सूर्यकर जितेंद्र,राज्य सचिव प्रमोद कुमार,आल इंडिया स्कीम वर्कर्स फेडरेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष सह महासंघ (गोप गुट) के सम्मानित अध्यक्ष रामबली प्रसाद,आशा कार्यकर्ता संघ (गोप गुट) अध्यक्ष शशि यादव,जन चिकित्सा स्वास्थ्य कर्मचारी संघ नेता विश्वनाथ सिंह,एटक के राज्य सचिव नारायण पूर्वे,जनवादी महिला समिति नेता रामपरी,अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ के महासचिव मंजुल कुमार दास ,एमडीएम वर्कर्स यूनियन(सीटू) नेता व्यास प्रसाद यादव,बिहार राज्य मध्यान भोजन कर्मचारी यूनियन अध्यक्ष नरेश राम आदि नेताओं ने प्रमुख रूप से सम्बोधित किया।इन नेताओं ने रसोइया के मांगों का समर्थन किया,ऐपवा नेत्री मीणा तिवारी ने रसोईयों के मांगों के समर्थन में 28 जनवरी को ऐपवा द्वरा पूरे बिहार में प्रदर्शन करने की घोषणा किया।

महापड़ाव पर हुए जनसभा के कार्यक्रम को बिहार राज्य विद्यालय रसोइया संघ(ऐक्टू) की राज्य अध्यक्ष सरोज चौबे,बिहार राज्य मिड डे मिल वर्कर्स (रसोइया) यूनियन(सीटू) के राज्य अध्यक्ष विनोद कुमार,बिहार राज्य विद्यालय रसोइया संघ (एटक) के राज्य संयोजक डा० रामाकांत अकेला,बिहार राज्य मध्यान भोजन कर्मचारी यूनियन (एआईयूटीयूसी) राज्य अध्यक्ष अनामिका की चार सदस्यीय अध्यक्षमंडल ने संचालित किया।

महापड़ाव को चारो रसोइया सँगठनों के करीब दो दर्जन से अधिक जिला नेताओं ने भी सम्बोधित किया।
आज महापड़ाव स्थल पर हज़ारो रसोईयों ने जमकर नीतीश-मोदी विरोधी नारा लगाया तथा कोरस सांस्कृतिक टीम के समता राय द्वारा रसोइयों केआंदोलन के समर्थन में क्रांतिकारी गीत प्रस्तुत किया।

अंत में अनिश्चित कालीन हड़ताल जारी रखने तथा 4 फरवरी को रेल रोड सहित पूरे बिहार का चक्का जाम करने के आह्वान पर कल से चल रहा दो दिवसीय महापड़ाव आज सम्पन्न हो गया।

आज इसकी जानकारी बिहार राज्य मध्यान भोजन रसोइया सन्युक्त संघर्ष समिति नेता सह बिहार राज्य विद्यालय रसोइया संघ(ऐक्टू) अध्यक्ष सरोज चौबे ने दी।

और पढ़ें

ऊपर जायें
%d bloggers like this: